DilseShayari.com

Shayari directy from Hearts

Hindi Shayari

college love

kuch samaye baad yeh pal yaad aaenge .
jab hum apne mukaam ko choo jaenge.
daulat shohrat toh hogi sabke pass
par yeh waqt laut k nahi aaenge.

school se nikal k nayi jagah aaye the
na socha tha aise rishtey ban paenge
kisi ko girlfriend mili to kisi ko bhai mila
bus isi khwaish mea reh gaye ki kya pass ho paenge hum ?

रंग बिखरे थे कितने मुहब्बत के थे वो

रंग बिखरे थे कितने मुहब्बत के थे वो |
इक वो ही था जो कितना बेरंग निकला |
मैं ही वो शबनम थी जिसने चमन को सींचा |
मुझे ही छोड़ कर वो बारिश में भीगने निकला |
मेरा वजूद हे तो रोशन हे तेरे घर के दिये |
मैंने देखा तू कितना बेरहम निकला |
न जाने कहाँ हर्फे वफ़ा गम होके रह गई |
सबने देखा सरे राह मुहब्बत का जनाज़ा निकला|
दिल है खामोश उदासी फिजा में छाई है |
मुद्दतें बीती बहारों का काफिला निकला |
टूटे हुए ख्वाब सिसकती हुई सदाओं ने कहा |
करने बर्बाद मुझे मेरे घर का रेह्नुमाँ निकला |

Page 1 of 11